गुरुवार, 30 मई 2013

मयखाना- कता- राजीव नामदेव राना लिधौरी

मयखाना- कता
हर जात के ही साथ मे पीते है सभी लोग।
मंदिर से तो अच्छे मुझे मयखाने लगे है।।
पे्रम मे मरमिटने को राना भी है तैयार।
शम्मा से तो अच्छे मुझे मयखाने लगे है।।
            राजीव नामदेव राना लिधौरी टीकमगढ म. प्र.

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें