सोमवार, 9 फ़रवरी 2015

‘राना लिधौरी’ जबलपुर में सम्मानित 8-2-2015





                                        
‘राना लिधौरी’ जबलपुर में सम्मानित

टीकमगढ़//नगर के ख्यातिप्राप्त साहित्यकार,कवि-शायर एवं म.प्र.लेखक संघ के जिलाध्यक्ष राजीव नामदेव ‘राना लिधौरी’ को उनके लघुकथा के क्षेत्र में विशेष योगदान के लिए मध्य प्रदेश लघुकथाकार परिषद जबलपुर  ‘लघुकथा गौरव सम्मान’ से सम्मानित किया । राना लिधौरी को यह सम्मान रानी दुर्गावती संग्रहालय के सभा कक्षा,जबलपुर में मध्य प्रदेश लघुकथाकार परिषद जबलपुर के 30वें वार्षिक सम्मेलन व सम्मान समारोह में प्रदान किया गया। कार्यक्रम में मुख्य अतिथि प्रसिद्व साहित्यकार प्रो.हरिशंकर दुवे ने की व अध्यक्षता डाॅ.सुमित्र ने की,विशिष्ट अतिथि के रूप में राधेश्याम पाठक ‘उत्तम’ रहे। कार्यक्रम का संयोजक डाॅ.मोहम्मद मुइनुद्दीन अतहर ने किया। इस अवसर डाॅ. कुँवर प्रमिल व डाॅ. मोहम्मद मुइनुद्दीन ‘अतहर’ द्वारा संपादित ‘प्रतिनिधि लधुकथाएँ’ कृति का व ‘लघुकथा अभिव्यक्ति’ पत्रिका के जनवरी-मार्च 2015 अंक का विमोचन किया गया।
गौरतलब हो कि राजीव नामदेव ‘राना लिधौरी’ की पुरस्कृत पुस्तक ‘नौनी लगे बुन्देली’ विश्व में बुन्देली का प्रथम हाइकु संग्रह है। ‘अर्चना’,‘रजनीगंधा’ और ‘नौनी लगे बुंदेली’ तीन पुस्तकें छप चुकी है एवं 8 पत्र-पत्रिकाओं का संपादन कर चुके है,वर्तमान में आप टीकमगढ़ जिले की एकमात्र साहित्यिक पत्रिका ‘आंकाक्षा’ का सफल संपादन विगत नौ वर्षो से करते आ रहे है तथा साहित्यक संस्था म.प्र.लेखक संघ के टीकमगढ़ के जिलाध्यक्ष के पद पर विगत 13वर्षौ से सुशोेभित है। इस उपलब्धि पर राजीव नामदेव ‘राना लिधौरी’ को नगर के साहित्यकारों एवं शुभचिंतकों ने बधाईयाँ एवं शुभकामनाएँ दी।   

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें