शुक्रवार, 31 मार्च 2017

     राना लिधौरी के 51 देश के हुए ‘ब्लाग’ पाठक-

टीकमगढ़/ख्यातिप्राप्त सााहित्यकार एवं म.प्र.लेखक संघ के जिलाध्यक्ष राजीव नामदेव राना लिधौरी के ब्लाग पाठक अब 51 देशों तक फैल गये है ‘इजलाइल’ देश के एक पाठक के जुडने के साथ उनके ब्लाग पढ़ने वाले देशों की संख्या 50 हो गयी है तथा कोलाबिया के एक पाठक जुड़ने साथ ही उनकी संख्या 51 होगी है। राना लिधौरी ने बताया कि अब तक उनके हिन्दी में लिखे ब्लाग राजीव नामदेव राना लिधौरी को भारत के साथ-साथ 51 देशों के पाठकों ने पढा हैं जिसमें प्रमुख रूप से भारत के 3726,संयुक्त राज्य के 997, रूस के 310, फ्रांस के 252, पुर्तगाल के 122, पोलेंड़ के 85, जर्मनी के 81, यूक्रेन 64, वेनेजुएला के 37, संयुक्त राज्य अमीरात के 36 ,स्पेन 26, मलेशिया के 20, तुर्की के 18, द.कोरिया के 11, मेक्सको के 7, इंडोनेशिया के 5, ब्राजील के 4, ब्रिटेन के 3, यूनाइडेड किंगटन के 3,केन्या केन्या के 3, थाईलेंड के 3, रोमानिया के 2, आस्टेलिया के 2, सिंगापुर के 2, कांगो किरांग के 1, फिलीपींस, श्रीलंका, स्वीडन, साउदी अरब, बोलीविया, कजाकिस्तान, वियतनाम, लाइवेरिया, कतर,स्विडजरलैंड, कनाडा, मंगोलिया, मारीशस, चीन, यमन, चैकगण राज्य, नेपाल, हागकांग, इटली, नीदरलैंड, नार्वे, गिनी, माल्टा अजराइल, कोलंबिया आदि देशों के एक-एक पाठकों सहित कुल 6062 पाठकों ने राना लिधौरी का ब्लाग अब तक पढा है। और पाठकों की संख्या में निरंतर वृद्धि हो रही है राना लिधौरी ने बताया कि उन्होंने अपने ब्लाग में 255 पोष्ट डाली है जिनमें उनकी हिन्दी में लिखी कविताएँ, व्यंग्य, आलेख आदि रचनाएँ है।
गौरतबल हो कि राना लिधौरी की 4 पुस्तकें छप चुकी है एवं साहित्यिक पत्रिका ‘आंकाक्षा’ का संपादन वे विगत 12 वर्षो से करते आ रहे है। 11 पुस्तकों का संपादन कर चुके है। इंटरनेट पर उनके 4 ब्लाग है। फेसबुक पर लगभग 4500 मित्र है। आप वर्तमान में विगत 16 वर्षो से लगातार म.प्र. लेखक संघ जिला इकई टीकमगढ़ के अध्यक्ष पद को सुशोभित कर रहे है। आपके कुशल संचालन में म.प्र.लेखक संघ टीकमगढ़ की अब तक 221 गोष्ठियाँ सफलतापूर्वक आयोजित हो चुकी है।

    (राजीव नामदेव ‘राना लिधौरी)
rajeev namdeo rana lidhori

























































कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें